Hindi Essays, English Essays, Hindi Articles, Hindi Jokes, Hindi News, Hindi Nibandh, Hindi Letter Writing, Hindi Quotes, Hindi Biographies

Hindi Essay, Paragraph 5 Lines Vichar Bindu on "Paradhinta Sapnehu Sukh Nahi", "पराधीन सपनेहूँ सुख नाहीं" for Class 8, 9, 10, 12 Students.

पराधीन सपनेहूँ सुख नाहीं 

Paradhinta Sapnehu Sukh Nahi




विचार-बिन्दु- 


1 सूक्ति का अर्थ - पराधीन व्यक्ति हमेशा दुखी

2 उसका जीवन दूसरों की इच्छा पर निर्भर 

3 दूसरों की कठपुतली बनने से संतोष और आनंद का अभाव 

4अपनी इच्छा से जीने में आनंद 

5 पराधीन व्यक्ति मृत के समान। 

Post a Comment

0 Comments