Hindi Essays, English Essays, Hindi Articles, Hindi Jokes, Hindi News, Hindi Nibandh, Hindi Letter Writing, Hindi Quotes, Hindi Biographies

Masik Kharche ki rakam badhane ke liye Pitaji ko Prarthna Patra, "मासिक खर्चे की रकम बढ़ाने के लिए पिता जी को प्रार्थना पत्र".


अपनी मासिक खर्चे की रकम बढ़ाने के लिए पिता जी को प्रार्थना पत्र लिखें।

12-लाजपत राय होस्टल,
डी. ए. वी. स्कूल,
नई दिल्ली।
अगस्त 2,20....

आदरणीय पिता जी,
मुझे आपका 700/- रु. का मनी-आर्डर प्राप्त हुआ। मैंने अपने सभी होस्टल के बिल अदा कर दिए। अब मेरे पास केवल पचास रुपए बचे हैं। मुझे अभी पूरा महीना व्यतीत करना है। यह रकम मेरे लिए काफी नहीं है।

पिता जी, मैं बहुत दु:ख के साथ कहना चाहता हूँ कि 700/- रु. कोई बड़ी रकम नहीं है। आप जानते ही हैं कि हर चीज़ दिन प्रतिदिन महंगी होती जा रही है। स्कूल की फीस तथा मैस के दाम भी बढ़ गए हैं। किताबें तथा कापियां भी महंगी हो चुकी हैं। चाय का साधारण प्याला 5/- रु. का हो चुका है। मैं तो मुश्किल से ही कभी फिल्म देखने जाता हूँ। कृपया मेरी मासिक खर्चे की रकम बढ़ा कर 1000/- रु. कर दी जाए।

मैं जानता हूँ कि परिवार में केवल आप ही कमाने वाले व्यक्ति हैं। मैं आपको आश्वस्त करता हूँ कि आपकी मेहनत की कमाई को व्यर्थ नहीं उड़ाऊंगा। आशा है कि आप मेरा निवेदन स्वीकार करेंगे।
आदर सहित।

आपका प्रिय पुत्र,
नरेश कमार।




Post a Comment

0 Comments