Hindi Essays, English Essays, Hindi Articles, Hindi Jokes, Hindi News, Hindi Nibandh, Hindi Letter Writing, Hindi Quotes, Hindi Biographies

Hindi Essay on "Pehle Socho Phir Karo", "पहले सोचो फिर करो " for Students Complete Hindi Speech, Paragraph for class 5, 6, 7, 8, 9, and 10 students in Hindi Language.

पहले सोचो फिर करो 
Pehle Socho Phir Karo

इस कहावत का अर्थ यह है कि हमें कोई भी कार्य करने से पहले सोचना समझना चाहिए। सभी तथ्यों को समझकर ही किसी भी कार्य का आरंभ करना चाहिए। जो लोग बिना सोचे समझे कार्य शुरू कर देते हैं उन्हें बाद में पछताना पड़ता है। केवल मूर्ख ही नए काम में बिना दिमाग इस्तेमाल किए पड़ जाते हैं। बुद्धिमान लोग तथ्यों को समझे बिना कोई भी कार्य शुरू नहीं करते। जो लोग कम सोचते हैं उन्हें दुःख उठाना पड़ता है। जब तक उन्हें उनकी मूर्खता का एहसास होता है तब तक चीजें वश से बाहर हो चुकी होती हैं। एक बार किया गया कार्य फिर से वापिस नहीं जाता। जो लोग जल्दी में ऐसा कर लेते हैं उनके साधन, समय तथा पैसा व्यर्थ हो जाता है। कई बार ऐसा हो जाता है कि व्यक्ति को शीघ्रता से उसी समय फैसला लेना पड़ता है, किन्तु ऐसे हालात बहुत कम उत्पन्न होते हैं। आम हालातों में पहले सोचकर ही कोई कार्य करना चाहिए। सफलता ऐसे लोगों को अवश्य प्राप्त होती है जो पहले सोच कर तैयारी करते हैं तथा फिर कार्य को करते हैं। जल्दबाजी में कोई भी फैसला नहीं लेना चाहिए।



Post a Comment

0 Comments